साइबर अटैक क्या है

Review

साइबर अटैक एक ऐसा शब्द है जिसे वो लोग तो सब जानते हैं जो कम्प्युटर और इंटरनेट उसे करते हैं बस थोड़ा बहुत ही लोग होंगे जो नहीं जानते होंगे ।

लेकिन हम आज आपको ऐसे समझाएँगे और बताएँगे जिससे की वो सब जान जाएंगे जो कभी भी कम्प्युटर या इंटरनेट इस्तेमाल नहीं करते तो कृपया पूरा पढ़िये ।

“ साइबर अटैक ये ऑनलाइन की दुनिया मे चोरी,डकैती या ब्लैकमेलिंग किया जाने वाला काम है जो सिर्फ हैकर लोग करते हैं । “

तो दोस्तों आपको पता ही होगा की आज – कल भारत और चीन मे कितना ज्यादा विवाद हो रहा है, और दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है जिसमे चीन नए – नए हथकंडे अपना रहा है, जिसमे से एक है ‘साइबर अटैक’ ।

तो आपको बता दें की चीन मे एक चिचुआन नाम की जगह है जहां से एक हफ्ते मे 40 हजार बार भारत मे ‘साइबर अटैक’ किए गए हैं और वो भी आम लोगो पर नहीं बल्कि बड़े – बड़े नेता, बीजनसमैन और बड़ी – बड़ी कम्पनियों पर हुआ है ।

“ अगर हम एक लिने मे समझे तो हम इसे ऑनलाइन गुंडागर्दी भी कह सकते हैं। “

और ये काम जो लोग करते हैं उन्हे ही हम हैकर कहते हैं।

तो अब हम ये जानने वाले हैं की ये हैकर लोग कैसे बनाते हैं और कैसे साइबर अटैक करते हैं ।

तो देखो भाई जैसे सभी चीज की पढ़ाई होती है मतलब की डॉक्टर,इंजीनियर या फिर वकील मतलब की कोई भी ,, ठीक वैसे ही हैकिंग की भी पढ़ाई होती है लेकिन हैकिंग की पढ़ाई होती है गलत काम के लिए नहीं बल्कि गलत काम को रकने के लिए सिखाया/पढ़ाया जाता है, लेकिन कुछ लोग इसका गलत काम के लिए इस्तेमाल करने लगते हैं ।

तो जो सही काम करते हैं मतलब की नियम कानून के द्वारा तो उन्हे “व्हाइट हैट हैकर” कहते हैं, और जो गलत काम करते हैं उन्हे “ब्लैक हैट हैकर” कहते हैं ।

तो अब हम जानेंगे की ये हैकर लोग आखिर कौन सी कमी होती है जिससे की ये लोग हैक कर लेते हैं ।

तो देखिये उतनी कमी तो नहीं होती बस थोड़ी बहुत लापरवाही के कारण छोटी मोटी गलतियाँ हो जाती है और सेक्युर्टी भी पावरफूल नही होती जिसका हैकर लोग फायदा उठा लेते हैं ।

तो अब वो क्या गलतियाँ होती हैं उसको जान लेते हैं, तो अगर आप वैबसाइट के बारे मे या ब्लॉग के बारे मे थोड़ा भी जानते होंगे तो “ ब्लॉगस्पॉट . कॉम “ को भी जानते होंगे , अगर नहीं जानते तो बता दूँ की यहाँ पर फ्री मे वैबसाइट बनाई जाती है ब्लॉगिंग के लिए, तो ये वैबसाइट हमे गूगल प्रोवाइड करता है।

तो आप तो गूगल के बारे मे जानते ही होंगे की कैसा उसका सेक्युर्टी है या फिर कोई भी चीज कितना ज्यादा बढ़िया है तो इसीलिए गूगल जो प्रोवाइड करता है वो हैक नहीं होता, क्यूंकी उसकी सारी देखभाल गूगल की टीम करती है जिसमे एक से एक एथिकल हैकर होते हैं जो गूगल पर किसी भी साइबर अटैक को अटैक होने से पहले ही रोक देते हैं ।

लेकिन हॉस्पिटल,इंस्टीट्यूट,कालेज या गोरमेंट या फिर बड़ी – बड़ी कंपनियाँ इत्यादि के वैबसाइट ज़्यादातर हैक होती हैं क्यूंकी ये वैबसाइट गूगल प्रोवाइड नहीं करती ये सब वैबसाइट प्राइवेट कंपनियाँ बनाती हैं टेंडर लेकर जिसको खुद से कोडिंग करके डेवेलप किया हुआ होता है जो मैनुअल होता है ।

तो कोडिंग के टाइम कोई छोटी – मोटी गलतिया हो जाती हैं जिसे लोग अनदेखा कर देते हैं और समय – समय पर वैबसाइट को अपडेट नहीं करते हैं जिसकी सजा बाद मे भुगतनी पड़ती है तो यही सब हैकर लोग मौका देखते हैं और कोई बग या वाइरस भेज कर हैक कर लेते हैं ।

अब सायद आप सोच रहें होंगे की जब गूगल का बढ़िया है तो सबको गूगल वाली वैबसाइट ही इस्तेमाल करनी चाहिए,, तो आपको बता दूँ की लोग गूगल से क्यूँ नहीं वैबसाइट बनाते हैं मतलब की “ ब्लॉगस्पॉट . कॉम “ वाली वैबसाइट तो वो इसलिए क्यूंकी उस वैबसाइट मे ये वैबसाइट बनाने वाले जैसे चाहते हैं वैसे कस्टमाइज़ नहीं कर सकते इसीलिए गूगल वाली वैबसाइट को इस्तेमाल नहीं करते ।

तो अगर हम एक भाषा मे कहे तो इसे ऑनलाइन क्राइम भी कह सकते हैं ॥

तो उम्मीद है की आपको हमारी जानकारी समझ मे आई होगी और अगर नहीं कोई ऐसा टॉपिक हो जो ना समझ मे आया हो तो उस टॉपिक को आप कमेंट बॉक्स मे लिखकर हमारे पास भेज सकते हैं ।

और अगर पसंद आई हो तो कृपया दूसरों के पास भी शेयर करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *