what-is-dark-web-dark-web-in-hindi-dark-web-kya-hai

Dark Web Kya Hai ? डार्क वेब क्या है ?

Technology

क्या आप जानते है की Dark Web या Darknet क्या है? ( What is Dark Web in hindi ), जैसा की हमे नाम से ही पता चल रहा है की कुछ खतरनाक टाईप का वैबसाइट है , अगर आसान भाषा मे कहे तो एक ऐसी ऑनलाइन की दुनिया जहां सिर्फ गैरकानूनी काम होते हैं ।

तो अगर आपसे पूछा जाए की इंटरनेट कितना बड़ा है, तो आप कहेंगे की बहुत बड़ा है और वो आप इसलिए कहेंगे क्यूंकी आप जो भी जानना चाहते हैं वो सब आपको सर्च इंजिन या सोशल मीडिया के द्वारा मिल जाता है ।

तो हम आपको बता दें की वो पूरे इंटरनेट का लगभग 4 प्रतिशत ही है , तो अब सायद आपके दिमाग में आ रहा होगा की ये सिर्फ 4 प्रतिशत है तो बाकी का जो 96 प्रतिशत है वो क्या है ?।

आज मै आपको वही सब बताने वाला हूँ, जिसमे ज्यादा से ज्यादा हम डार्क वेब (dark web kya hai) को समझने वाले हैं ।

तो अगर आपको अच्छे से एक – एक चीज को समझना है ना, तो कृपया पूरा पढ़िये ।

वेब कितने प्रकार के होते हैं ?

(1)   सरफेस वेब

(2)   डीप वेब

(3)   डार्क वेब

सरफेस वेब – (Surface Web in Hindi)

ये वो वैबसाइट है जिसे हम लोग इस्तेमाल करते हैं, और हर वो काम करते हैं जिसकी हमे इंटरनेट पर जरूरी होती है, जैसे किसी चीज की जानकारी को किसी वैबसाइट के द्वारा लेना या पढ़ना या फिर खुद का वैबसाइट बनाना या सोशल साइट/मीडिया को इस्तेमाल करना और भी बहुत कुछ ।

और अभी हमने ऊपर बताया है की हम सिर्फ 4 प्रतिशत का इस्तेमाल करते हैं तो हम इसी के बारे मे बता रहे थे, जो सरफेसवेब है।

डीप वेब – (Deep Web in Hindi)

ये इंटरनेट का सबसे बड़ा हिस्सा है इसे हम सब ऐक्सेस नहीं कर सकते, क्यूंकी इसको इस्तेमाल करने के लिए अलग से “यू आर एल” मिलता है जिसको सिर्फ वही ओपेन कर सकते हैं जिसके पास वो “यू आर एल “ होगा और उसको और उसको ऐक्सेस करने के लिए जो “आई डी” और “पासवर्ड” मिला होगा ।

इसका इस्तेमाल गूगल , याहू , बींग या ऑनलाइन बैंकिंग वाले , या फिर बड़े – बड़े कॉलेज , कोई संस्था या गुप्त संस्था इत्यादि , जिसको सिर्फ वही ओपेन कर सकते हैं वो जिसका होगा साइट होगा ।

डार्क वेब (Dark Web Kya Hai in Hindi

Darknet Kya Hai क्या है और यह कैसे काम करता है ? और Darknet Kya Hai और कैसे Access करे ?

ये पहले और दूसरे वाले से एकदम अलग है ।

यहाँ पर वो सारे काम किए जाते हैं जो गैर “कानूनी” है, जैसे की स्मगलिंग,किल्लिंग,आतंकवादी हमले इत्यादि और कोई उन्हे पकड़ भी नहीं पाता ।

अब सायद आप भी सोच रहे होंगे की वही से हम भी गैर कानूनी काम करेंगे, तो आपको बता दूँ की वहाँ पर आप जैसे ही जाएंगे आप लूट जाएंगे और ऐसा हुआ भी है क्यूंकी वहाँ पर ऐसे – ऐसे हैकर्स पड़े हैं जिसके बारे मे आप कल्पना भी नहीं कर सकते ।

वहाँ पर सारे के सारे “ब्लैक हैट हैकर” होते हैं ।

अब जब हैकर की बात आ ही गयी है तो मै आपको बता दूँ की यहाँ पर एक “एनोनीमस” का एक हैकर का ग्रूप है लेकिन वो गलत तरीके का इस्तेमाल तो करते हैं, पर सारे के सारे सही काम करते हैं मतलब की किसी बड़े नेता या कोई बड़ी संस्था जब कुछ गलत करती है तो उनका अकाउंट या जो – जो भी हैक करने लायक होता है और उनके नजर मे गलत होता है तो उन सबको हैक करके सबके सामने लाते हैं, और ये भी कहा जाता है की इस ग्रुप मे 15 से 65 साल तक के लोग हैं ।

सबसे महत्वपूर्ण बात हम डार्क वेब के किसी भी वैबसाइट को ओपेन नहीं कर पाएंगे, क्यूंकी इन सब वैबसाइट को ऐक्सेस करने के लिए आपको टोर्र ब्राउज़र की जरूरत पड़ेगी क्यूंकी क्रोम, मोज़िला,ओपेरा या यूसी जैसी ब्राउज़र मे खुलेगा हि नहीं ।

तो आपको बता दूँ की टोर्र ब्राउज़र को क्रोम ब्राउज़र से डाउनलोड कर सकते हैं ,, एक और बात अक्सर आपने सुना/देखा या पढ़ा होगा की डार्क वेब को ओपेन मत करना , वो इसलिए की आप जैसे ही ओपेन करेंगे तुरंत हैक हो जाएगा आपका डिवाइस।

तो उम्मीद करते हैं की हमारी जानकरी आपको समझ मे आयी होगी और अगर कुछ ऐसा हो जो ना समझ मे आया हो तो आप उसको कमेंट बॉक्स मे पूछ सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *