जानिए बिहार राज्य के मोतिहारी में बसे कुछ आकर्षक पर्यटक स्थल

Tour and Travels

भारत के बिहार राज्य में बसे मोतिहारी शहर में कुछ ऐसे पर्यटक स्थल हैं जो पूरे भारत में जाने जाते हैं। जो कोई व्यक्ति भी घूमने फिरने का शौकीन है उसे मोतिहारी के बारे में भी पता होना चाहिए। मोतिहारी में बहुत से प्राचीन पर्यटक स्थल है जो कि काफी ज्यादा आकर्षक है। इसीलिए यह प्राचीन पर्यटक स्थल भारत के हर एक राज्यों में जाने जाते हैं। इसीलिए भारत के कोने कोने में से इन पर्यटक स्थलों पर पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से Tourist Places In Motihari तथा Motihari Tourist Places के बारे में विस्तार से बताएंगे इसी के साथ साथ हम Visiting Places In Motihari के बारे में भी जानेंगे।

Tourist Places In Motihari?

1. मोती झील ( Moti Lake )

मोतिहारी शहर के बीचोबीच मोती झील स्थित है और यह झील अपने आप में ही एक ऐतिहासिक महत्व रखती है। इस झील के दोनों तरफ बेहद ही आकर्षक दृश्य देखने को मिलते हैं। यह झील बिहार में मौजूद सभी पर्यटक स्थलों में सबसे ज्यादा चर्चा में है। इस स्थान पर भी रोजाना काफी ज्यादा पर्यटक स्थल घूमने के लिए आते हैं यह झील पहाड़ियों से ढकी होने के कारण बेहद ही आकर्षक लगती है। इस झील पर आने वाले पर्यटक वोटिंग का लाभ भी उठा सकते हैं और जब सूर्य उदय होता है या फिर सूर्यास्त होता है। तो उस समय तो यहां का नजारा और भी ज्यादा देखने लायक हो जाता है इसीलिए उस समय जो भी पर्यटक यहां पर होते हैं। उन्हें यह नजारा देखकर बड़ा ही आनंद महसूस होता है खास तौर पर यह जगह परिवार के साथ घूमने के लिए काफी अच्छी है। इसलिए अगर आप अपने परिवार वालों के साथ Motihari Tourist Places पर घूमने के लिए जाते हैं। तो मोतीझील पर जाकर यहां का आनंद जरूर उठाएं।

2. लौरिया ( Lauria )

Visiting Places In Motihari में यह स्थान काफी प्रसिद्ध है इस स्थान पर आज के समय में भी उन महलों की अवशेष देखे जा सकते हैं जो कि चाणक्य के द्वारा बनवाए गए थे। इसी स्थान पर यह विशेष टीले के रूप में दिखाई देते हैं और इन्हीं टीलो को भगवान बुध के अस्ति अवशेष पर बना स्तुप भी कहा जाता है इस स्थान पर आज भी उन महलों के अवशेष देखे जा सकते हैं। इसीलिए इस स्थान पर लोग काफी दूर-दूर से घूमने के लिए आते हैं। क्योंकि इस स्थान को पवित्र स्थान भी माना जाता है इसी स्थान पर लगभग 400 साल पुराना अशोक स्तंभ भी मौजूद है। यह स्तंभ लगभग 34 फुट ऊंचा है और इस पर अलग-अलग तरह की नक्काशी भी बनी हुई हैं। जिन्हें यहां पर आने वाले पर्यटक देख सकते हैं।

3. केसरिया ( Kesaria )

मोतिहारी में बसे केसरिया में विश्व का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप स्थित है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने 1998 ईस्वी में इस स्थान की खोज की थी। यह 104 फुट ऊंचा है ऐसा कहा जाता है कि प्राचीन काल में यह स्तूप लगभग 150 फीट का हुआ करता था परंतु 1934 में एक बहुत ही भयंकर भूकंप आया था। जिसके पश्चात इसकी ऊंचाई सिर्फ 104 फुट ही रह गई थी यह स्तूप काफी ज्यादा प्राचीन होने के कारण यहां पर आने वाले पर्यटक यहां पर मौजूद वास्तुशिल्प तथा भिन्न भिन्न प्रकार की नक्काशी अभी देख सकते हैं। यह स्थान दिखने में काफी ज्यादा अच्छा है और जो लोग इतिहास प्रेमी है वह तो इसी स्थान पर आकर काफी ज्यादा खुश होते हैं। क्योंकि इतिहास प्रेमियों के लिए तो यह स्थान किसी एक नई खोज से कम नहीं है। इस स्थान को लेकर आज के समय में भी बहुत से रहस्य छिपे हुए हैं। जिनकी खोज के लिए आज भी लोग लगे हुए हैं।

4. गांधी स्मारक ( Gandhi Memorial )

बिहार राज्य के मोतिहारी में गांधी स्मारक भी स्थित है और यह गांधी स्मारक लगभग 1972 ईस्वी में बनवाई गई थी। यह स्मारक गांधीवादी विचारधारा को समर्पित है इस गांधी स्मारक के जरिए यह दर्शाया गया है। जब सत्याग्रह के जरिए महात्मा गांधी जी ने अंग्रेजी शासन द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाई थी। इसीलिए स्मारक बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है और भारत के अलग-अलग राज्यों से लोग इस स्मारक को देखने के लिए बिहार राज्य के मोतिहारी में आते हैं। वैसे तो हो देश की आजादी की जंग में लड़ने वाले क्रांतिकारियों की स्मारक भारत के विभिन्न शहरों में बनवाई गई हैं और उन्हीं स्मारकों में से एक है। यह गांधीजी की स्मारक अगर आप Tourist Places In Motihari पर घूमने के लिए आते हैं तो गांधी जी की स्मारक देखना ना भूलें।

5. चाकिया ( Chawkiya )

बिहार राज्य में यह स्थान भी काफी प्रसिद्ध है और मोतिहारी में आने वाले लोग अक्सर इस स्थान पर भी घूमने के लिए आते हैं। यह एक महत्वपूर्ण व्यवसायिक कस्बा होने के साथ-साथ इस नगर की पंचायत भी है और यहां पर एक रेलवे स्टेशन भी है जोकि बौद्ध तीर्थ स्थल केसरिया स्तूप के बिल्कुल पास में ही स्थित है और यह स्थान नदी के किनारे बसा हुआ है जिसके कारण इसकी सुंदरता और भी ज्यादा बढ़

जाती है। इस नदी के ठंडे पानी के कारण इस पूरे नगर में ठंडी हवाएं चलती रहती हैं। इस स्थान को भी महात्मा बुद्ध की वजह से काफी पवित्र माना जाता है। इसीलिए इस स्थान पर भी लोग अक्सर टहलने के लिए आया करते हैं।

Best Time To Visit In Motihari – मोतिहारी घूमने के लिए कौन सा मौसम सही रहता है?

हमने Tourist Places In Motihari तथा Visiting Places In Motihari के बारे में तो विस्तार से जान ही लिया अब हम आपको यह बता देते हैं कि Visiting Places In Motihari पर घूमने के लिए आप किस मौसम में आ सकते हैं। तो दोस्तों वैसे तो आप अपने समय के अनुसार किसी भी समय यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको हर मौसम में यहां पर घूमने का आनंद मिलेगा परंतु ज्यादातर लोग यहां पर थोड़ा ठंडे समय में ही घूमने के लिए आते हैं। जैसे कि अक्टूबर से लेकर मार्च तक के महीने में यहां पर लोग ज्यादा आते हैं। क्योंकि गर्मी कम होने के कारण अच्छे से घुमा फिरा जा सकता है और यदि हम गरीबों के मौसम में आते हैं तो उस समय बार-बार पसीना आने की समस्या भी होती है। जिसके कारण घूमने में मजा नहीं आता और ना ही आप दोपहर के वक्त घूम पाएंगे।

How To Visit In Motihari – मोतिहारी कैसे पहुंचे?

अगर आप मोतिहारी शहर में घूमने के लिए आना चाहते हैं। तो दोस्तों हम आपको बता दें कि आप मोतिहारी शहर में घूमने के लिए 3 तरीकों से पहुंच सकते हैं। जैसे कि :-

By Train –

यदि आप रेलगाड़ी के माध्यम से मोतिहारी शहर में घूमने के लिए आना चाहते हैं। तो आप रेलगाड़ी के माध्यम से भी आ सकते हैं भारत के सभी राज्यों तथा बिहार के सभी शहरों से यहां की रेलवे लाइन जुड़ी हुई है और मोतिहारी का अपना खुद का रेलवे स्टेशन है। इसीलिए आप किसी भी दूसरे राज्य से आसानी से मोतिहारी शहर में पहुंच सकते हैं।

By Road –

यदि कोई व्यक्ति है सड़क के माध्यम से यहां पर आना चाहता है। जैसे कि यदि कोई व्यक्ति खुद की गाड़ी से मोतिहारी आना चाहता है या फिर बस के माध्यम से मोतिहारी आना चाहता है तो आसानी से पहुंचा जा सकता है। क्योंकि मोतिहारी शहर की सभी सड़कें दूसरे राज्यों तथा बिहार के दूसरे शहरों के साथ जुड़ी हुई हैं जिसके कारण आप यहां पर आसानी से अपनी गाड़ी के माध्यम से आ सकते हैं। और यदि आप बस में बैठ कर आना चाहते हैं। तो आप बिहार के किसी भी शहर में बस में आ सकते हैं और बिहार के किसी भी शहर से आपको मोतिहारी आने की बस आराम से मिल जाएगी।

By Air –

यदि कोई व्यक्ति सफर के दौरान ज्यादा समय खराब नहीं करना चाहता। तो वह व्यक्ति हवाई जहाज के माध्यम से भी इसी स्थान पर पहुंच सकता है। परंतु मोतिहारी का अपना खुद का हवाई अड्डा नहीं है। जिसके कारण आपको भारत के दूसरे राज्यों से पटना हवाई अड्डे पर पहुंचना होगा और पटना हवाई अड्डे से आप प्राइवेट टैक्सी रहता बस के माध्यम से Tourist Places In Motihari तक पहुंच सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *